Tuesday 23 June 2009

हाय दुनिया ये दुनिया बड़ी गोल है!

यह तो मेरी शुरुआत है !
कोशिश करूँगा की दुनिया की परिधि को इन्ही पैरों के तले पीछे निकलता हुआ महसूस करूँ।
संपूर्ण पृथ्वी की संस्कृतियाँ मेरी आत्मा में अमरता का एहसास भर दें और मैं इन इन्द्रधनुषी
रंगों के माध्यम से सभी को प्यार और मोहब्बत का पैगाम देता रहूँ।
यही मेरी पूंजी हो और मेरी तरफ़ से संस्कृती को एक धरोहर।
आख़िर इसी का नाम तो ज़िन्दगी है !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!
धन्यवाद आपका....................

4 comments:

  1. बड़ी ही सुन्दर पहल और इरादे .
    आमीन

    ReplyDelete
  2. your spirit shows your passion towards writing!!

    ReplyDelete
  3. good

    http://cafe2earnmoney.blogspot.com
    http://healthgyancafe.blogspot.com
    http://smsquotations.blogspot.com
    http://tassels-decoration.blogspot.com
    http://jainsparichay.blogspot.com

    ReplyDelete